Friday, 21 September 2018

प्रेमचन्द युगीन हिंदी उपन्यास

प्रेमचन्द युगीन हिंदी उपन्यास


1.
मुंशी प्रेमचन्द

जन्मकाल – 31 जुलाई, 1880 ई. मृत्युकाल – 08 अक्टूबर, 1936 ई.
माता - आनंदी देवी पिता – अजायबराय
जन्मस्थान – लमही

प्रमुख उपन्यास –
 
1. सेवा सदन – 1918 ई. – यह उपन्यास पहले ‘बाज़ारे – हुस्न’ नाम से उर्दू में लिखा गया था, परन्तु ‘उर्दू’ में प्रकाशित नहीं करवाकर इसका हिंदी अनुवाद पहले प्रकाशित करवाया गया |
 
2. प्रेमाश्रय – 1922 ई. - यह उपन्यास पहले ‘गोशए- आफ़ियत’ नाम से उर्दू में लिखा गया था, परन्तु ‘उर्दू’ में प्रकाशित नहीं करवाकर इसका हिंदी अनुवाद पहले प्रकाशित हुआ |
 
3. रंगभूमि – 1925 ई. – यह उपन्यास भी पहले ‘चौगाने – हस्ती’ नाम से उर्दू में लिखा गया है, परन्तु इसका भी पहले हिंदी अनुवाद ही प्रकाशित हुआ | 

4. कायाकल्प – 1926 ई. 
5. निर्मला – 1927 ई.
6. गबन – 1931 ई. 
7. कर्मभूमि – 1933 ई.
8. गोदान – 1935 ई. 
9. मंगलसूत्र – अपूर्ण उपन्यास ( बाद में पुत्र ने पूर्ण किया )

विशेष तथ्य -


1. ये प्रारम्भ में नवाबराय नाम से उर्दू में लेखन कार्य करते थे | इनके उर्दू कहानी संग्रह ‘सोजे – वतन’ को अंग्रेज सरकार ने जब्त कर लिया | उसके बाद इन्होंने अपना नाम बदलकर प्रेमचन्द रख लिया | इनका मूल नाम धनपतराय था |

2 इन्हें ‘कलम का सिपाही’ और ‘कलम का मजदूर’ भी कहा जाता है |

 

2. जयशंकर प्रसाद


प्रमुख उपन्यास -
 
1 कंकाल – 1929 ई. 
2 तितली – 1934 ई. 
3 इरावती -1938 ई. (अपूर्ण)

विशेष तथ्य -


1 ‘तितली’ इनका आदर्शपरक उपन्यास है |
2 ‘कंकाल’ यथार्थपरक उपन्यास है |
 

3. विश्वंभरनाथ शर्मा ‘कौशिक’


प्रमुख उपन्यास

1. माँ – 1929 ई. 
2. भिखारिणी - 1929 ई. 
3. संघर्ष – 1945 ई.

विशेष तथ्य -

1. ये रसिक स्वभाव के मनमौजी रचनाकार थे |
2. आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी इनके प्रेरणास्रोत माने जाते हैं |

4. आचार्य चतुरसेन शास्त्री


इन्होंने लगभग तीन दर्जन उपन्यास लिखे हैं | ‘वैशाली की नगरवधू’ इनका सर्वप्रसिद्ध उपन्यास है | इसमें व्यक्ति – स्वातन्त्र्य की समस्या उठाई गई है |

इनके प्रमुख उपन्यास निम्न हैं –

1 ह्रदय की परख – 1918 ई. 
2 ख्वास का ब्याह – 1927 ई.
3 अमर अभिलाषा- 1932 ई. 
4 आत्मदाह – 1937 ई.
5 मंदिर की नर्तकी – 1939 ई. 
6 नीली माटी – 1940 ई.
7 पूर्णाहुति – 1947 ई. 
8 वैशाली की नगरवधू – 1948 ई.
9 सोना और खून -1960 ई. 
10 आकाश की छाया में -1961 ई.
 

5. पाण्डेय बेचन शर्मा ‘उग्र’

जन्म – 1901 ई. , चुनार , मिर्जापुर (उत्तर प्रदेश)
प्रमुख उपन्यास -

1 चंद हसीनों के खतूत – 1927 ई. 
2 दिल्ली का दलाल - 1927 ई.
3 बुधुआ की बेटी – 1928 ई. 
4 शराबी – 1930 ई.
5 सरकार तुम्हारी आँखों में – 1931 ई. 
6 कला का पुरस्कार – 1955 ई.
7 कढ़ी में कोयला – 1955 ई. 
8 फागुन के दिन चार – 1960 ई.

6. वृन्दावन लाल वर्मा (1884 – 1969 ई.)


प्रमुख उपन्यास -

1 संगम – 1928 ई. 
2 लगन – 1929 ई.
3 प्रत्यागत – 1929 ई. 
4 विराटा की पद्मिनी – 1936 ई.
5 मुसाहिब जू – 1946 ई. 
6 मृगनयनी – 1950 ई. (सर्वश्रेष्ठ उपन्यास )
7 अमरबेल – 1953 ई. 
8 टूटे काँटे – 1954 ई.

7. सूर्यकान्त त्रिपाठी ‘निराला’


प्रमुख उपन्यास -

1 अप्सरा – 1931 ई. 
2 अलका - 1931 ई.
3 निरुपमा – 1936 ई.
4 प्रभावती -1936 ई.

 

8. सियारामशरण गुप्त


प्रमुख उपन्यास -

1 गोद – 1932 ई. 
2 अंतिम आकांक्षा – 1934 ई.
3 नारी – 1937 ई.

9. राहुल सांकृत्यायन ( 1893 – 1963 ई. )

मूल नाम – केदार पाण्डेय

प्रमुख उपन्यास -

1 शैतान की आँख – 1923 ई. 
2 विस्मृति के गर्भ में – 1923 ई.
3 सोने की ढाल – 1923 ई. 
4 जीने के लिए - 1940 ई.
5 मधुर स्वप्न – 1949 ई. 
6 विस्मृत यात्री – 1954 ई.

10. श्रीनाथ सिंह


प्रमुख उपन्यास -
 
1 उलझन – 1934 ई. 
2 जागरण – 1937 ई.
3 प्रभावती – 1941 ई. 
4 प्रजामंडल – 1941 ई. 

YouTube:
 
Latest
Next Post
Related Posts

1 comment:

  1. बोहोत खूब ,
    आपसे ऐक बिनती हैं कि आप NET के लिए भी वीडियो बनाऐ ।

    ReplyDelete